Sunday, October 19, 2008

तस्वीर

तेरे खयालो में लिखू तो लफ्ज़ गुम हो जाते हैं,
सामने तेरी तस्वीर होती है हम दीदार करते जाते हैं

No comments:

Post a Comment