Sunday, October 19, 2008

शिद्दत

बहुत शिद्दत से दिल ने आवाज़ दी थी तुमको,
गए हो रूबरू तुम ये सबूत-ए-इश्क है।

No comments:

Post a Comment